Romantic Shayari

हक़ीक़त ना सही तुम ख़्वाब बन

Post Copied
Image Downloading... Download Image

हक़ीक़त ना सही तुम ख़्वाब बन कर मिला करो,
भटके मुसाफिर को चांदनी रात बनकर मिला करो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *