Romantic Shayari

हम भी मौजूद थे तकदीर के दरवाजे पे

Post Copied

हम भी मौजूद थे तकदीर के दरवाजे पे,
लोग दौलत पर गिरे और
हमने तुझे माँग लिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *